पोहा बनाने की आसान विधि (Poha Recipe in Hindi)

पोहा एक पौष्टिक और स्वादिष्ट भारतीय व्यंजन है जो तेजी से बनता है और अकेले खाने के साथ ही छाय या नाश्ते के रूप में बनाया जा सकता है। यहां पोहा बनाने की आसान विधि दी गई है:

Table of Contents

सामग्री:

  • 2 कप पोहा (चावल के पत्ते)
  • 2 टेबलस्पून तेल
  • 1/2 चम्च राई (मस्तर्द के बीज)
  • 1/2 चम्च जीरा (कमिन)
  • 8-10 कढ़ी पत्तियां
  • 1 प्याज
  • 2 हरी मिर्चें
  • 1 टमाटर
  • 1/2 चम्च हल्दी पाउडर
  • 1/2 चम्च लाल मिर्च पाउडर
  • 1/2 चम्च धनिया पाउडर
  • 1 चम्च नमक
  • 2 टेबलस्पून निम्बू का रस
  • धनिया पत्ती (सजाने के लिए)

निर्देश:

  • सबसे पहले, पोहा को अच्छे से धोकर छलने के माध्यम से छलने हैं ताकि छोटे कीटाणु यदि हों तो वे बाहर निकल जाएं। इसके बाद, पोहा को ठंडे पानी में 20-30 मिनट के लिए भिगोकर रखें।
  • भिगे हुए पोहे को अच्छे से छलने के बाद छलन में रखें ताकि अतिरिक्त पानी बह जाए।
  • अब एक कढ़ाई में तेल गरम करें और उसमें राई और जीरा डालें। यह दोनों मसाले तड़कने के बाद दें।
  • अब कढ़ाई में कढ़ी पत्तियों को डालें और उन्हें थोड़ी देर तक तड़कने दें।
  • अब प्याज, हरी मिर्चें, और टमाटर को बारीक कट लें।
  • तमाम मसालों को तैयार रखें, जैसे कि हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, और नमक।
  • अब कढ़ाई में तेल में कढ़ी पत्तियों के साथ ही प्याज को भूनें, जब तक वह सुनहरा नहीं हो जाता।
  • फिर हरी मिर्चें डालें और उन्हें भी थोड़ी देर तक भूनें।
  • अब टमाटर डालें और उन्हें गरम तेल में आधा पकने तक उबालने दें।
  • इसके बाद, इसमें सभी मसाले डालें – हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, और नमक।
  • अब भिगे हुए पोहे को डालें और अच्छी तरह से मिला दें, ताकि पोहा सभी मसालों से अच्छे से लिपट जाए।
  • अब पोहा तैयार है, इसे धनिया पत्ती से सजाकर उपस्थित करें।
  • पोहा तैयार है, इसे गरमा गरम छाय के साथ सर्व करें और आनंद उठाएं!

यह आपकी पोहा की आसान और स्वादिष्ट व्यंजन तैयार है, जिसे आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ आनंद ले सकते हैं। पोहा को छाय के साथ सर्व करने से और भी स्वादिष्ट बनता है।

पोहा के फायदे (Benefits of Poha in Hindi)

पोहा, जिसे चिद्वा या चिवड़ा के नाम से भी जाना जाता है, एक पौष्टिक और स्वादिष्ट भारतीय खाद्य पदार्थ है जो चावल के पत्तों को साफ़ करके बनाया जाता है। पोहा दक्षिण भारत का प्रमुख व्यंजन है, लेकिन यह देश के विभिन्न हिस्सों में बड़े ही पसंद किया जाता है। इसका सेवन छाय के साथ नाश्ते के रूप में किया जाता है और इसका कई पोषण लाभ होते हैं। यहां हम आपको पोहे के कुछ महत्वपूर्ण फायदे बताएंगे:

  1. सफल व्यवस्थित भोजन (Balanced Diet): पोहा एक सफल और पौष्टिक भोजन की तरह काम कर सकता है। यह फाइबर, प्रोटीन, और कई मिनरल्स का अच्छा स्रोत होता है, जो आपके शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते हैं.
  2. अच्छा स्रोत फाइबर का (Rich Source of Fiber): पोहा में फाइबर की मात्रा अच्छी होती है, जिससे पाचन क्रिया में सुधार होता है और कब्ज से राहत मिलती है.
  3. पोषण (Nutrient-Rich): पोहा में पोषण से भरपूर होता है, जैसे कि विटामिन बी, विटामिन सी, फॉलेट, आयरन, और कैल्शियम. यह आपके शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते हैं.
  4. लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Low Glycemic Index): पोहा का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जिससे यह आपके रक्त शर्करा को स्थिर रूप से बनाए रखने में मदद करता है और डायबिटीज के प्रबंधन में मददगार हो सकता है.
  5. कम वसा (Low Fat): पोहा कम फैट और कॉलरी होता है, जिससे यह वजन प्रबंधन के लिए अच्छा खाद्य पदार्थ हो सकता है.
  6. पौष्टिक बच्चों के लिए (Good for Kids): पोहा बच्चों के लिए एक स्वादिष्ट और पोषणपूर्ण खाद्य पदार्थ होता है. यह उनके विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है और उनके लिए जरूरी पोषण प्रदान करता है.
  7. अच्छा पाचन (Good Digestion): पोहा में फाइबर की मौजूदगी के कारण, यह पाचन प्रक्रिया को सुधारता है और उच्च रक्तचाप और हृदय रोग की जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है.
  8. अच्छा सोया प्रोटीन का स्रोत (Good Source of Soy Protein): पोहा में सोय प्रोटीन की मात्रा अच्छी होती है, जिससे यह एक अच्छा जीवनशैली वाले खाद्य पदार्थ के रूप में काम कर सकता है.
  9. स्वास्थ्यवर्धक खासियतें (Health Benefits): पोहा में विटामिन बी, आयरन, और फॉलेट की अच्छी मात्रा होती है, जो हड्डियों, तंतु और मांसपेशियों के लिए महत्वपूर्ण है.
  10. कैल्शियम का स्रोत (Source of Calcium): पोहा में कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है, जिससे हड्डियों और दांतों को मजबूती मिलती है.
  11. वायरल संरक्षण (Immunity Booster): पोहा में विटामिन सी की मात्रा अच्छी होती है, जिससे यह आपकी रक्षात्मक प्रतिरक्षा को मजबूती मिलती है और वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है.
  12. मधुमेह के खतरों को कम करें (Reduce the Risk of Diabetes): पोहा का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, इससे यह डायबिटीज के खतरों को कम करने में मदद कर सकता है.

how many calories in poha (पोहे में कितने कैलोरी होते हैं)

पोहा एक पौष्टिक और स्वादिष्ट भारतीय खाद्य पदार्थ है जो बड़े ही पॉप्युलर नाश्ते या छाय के रूप में जाना जाता है। पोहा की कैलोरी मात्रा विशिष्ट रेसिपी और उपयोग किए गए घटकों के आधार पर भिन्न हो सकती है। मैं आपको पोहे के एक मानक रेसिपी के लिए लगभग कैलोरी की जानकारी देता हूँ.

सामान्यतः, पोहे का एक सर्विंग (लगभग 100 ग्राम) लगभग 110 से 150 कैलोरी की होती है. इस कैलोरी गणना में पोहे के प्रकार (मोटे या पतले), तेल या घी की मात्रा, और सब्जियों, मूंगफली, या मसालों के साथ जैसे किसी अतिरिक्त घटक के आधार पर बदल सकती है.

एक सामान्य पोहे की रेसिपी के लिए निम्नलिखित कैलोरी विभाजन का अनुमान है (लगभग 100 ग्राम सर्विंग के लिए):

  1. पोहा (चावल के पत्ते) – लगभग 70-80 कैलोरी
  2. तेल या घी – खाने के लिए लगभग 30-40 कैलोरी
  3. राई, जीरा, कड़ी पत्तियां, और मसाले – अनगिनत कैलोरी
  4. प्याज, टमाटर, और हरी मिर्चें – लगभग 10-15 कैलोरी (100 ग्राम सर्विंग के लिए)
  5. मूंगफली – लगभग 50-60 कैलोरी (अगर शामिल होती है)
  6. अन्य सब्जियाँ या उपयोग किए गए घटकों के आधार पर अतिरिक्त कैलोरी

ध्यान देने वाली बात है कि कैलोरी संख्या व्यक्तिगत पसंद और रेसिपी की विभिन्नताओं के आधार पर बदल सकती है. यदि आप एक और अधिक सटीक कैलोरी गणना चाहते हैं, तो आपको एक पोषण गणना या विशेष ब्रांड के पोहे के पैकेजिंग पर उपलब्ध नामक जानकारी का संदर्भ लेना सुझावित किया जाता है.

 

You May Also Like This.

 

How to make delicious khir at home ?

                               CLICK HERE

How to make delicious Halwa at home ?

                               CLICK HERE

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *